परिंदे सोचते हैं कि रहने को घर मिले

True Line Status - Anmol Vachan

इन्सान की चाहत है कि
उड़ने को पर मिले!

और परिंदे सोचते हैं कि
रहने को घर मिले!!

जब ताला खुलता है, तभी मालुम पड़ता है

New True Vachan Images 2017

“इंसान” एक दुकान है, और “जुबान” उसका ताला!!

जब ताला खुलता है, तभी मालुम पड़ता है
कि दूकान “सोने” कि है, या “कोयले” की!

Hindi Anmol Vachan Vichar

Hindi Anmol Vachan Vichar

कामयाबी बड़ी नही, पाने वाले बड़े होते हैं
दरार बड़ी नही,  भरने वाले बड़े होते हैं.
इतिहाश के पन्नो पर लिखा है की,
रिश्ते बड़े नही, निभाने वाले बड़े होते हैं.